Cloud Hosting क्या हैं? What is Cloud Hosting in Hindi

Cloud Hosting क्या है? क्लाउड होस्टिंग कैसे काम करता है? इसके फायदे और नुकसान है? यदि आप एक वेब डेवलपर है या किसी वेबसाइट में मालिक है तो आपको क्लाउड होस्टिंग के बारे में पता होना बहुत ही जरुरी है.

क्लाउड होस्टिंग के बारे में जानने के लिए मेरा अनुरोध है की आप आर्टिकल को अंत तक पढ़िए और अपने विचार को कमेंट बॉक्स में जरूर बताये।

क्लाउड होस्टिंग क्या हैं?

जब भी हम अपनी वेबसाइट को शेयर्ड होस्टिंग पर होस्ट करते है। उस समय हमारी वेबसाइट सिंगल फिजिकल सर्वर पर होस्ट होती है. जिसकी वजह से यदि सर्वर पर लोड अधिक पड़ता है तो हमारी वेबसाइट की स्पीड धीमी हो जाती है.

इस समस्या से बचने के लिए क्लाउड होस्टिंग का उपयोग किया जाता है.क्लाउड होस्टिंग पर वेबसाइट सिंगल फिजिकल सर्वर पर होस्ट न होकर क्लाउड सर्वर पर होस्ट होती है.

इससे हमें फायदा यह होता है सर्वर पर अधिक लोड नहीं पड़ता है और यदि कभी सर्वर ख़राब भी हो जाता है तो उसकी जगह दूसरा सर्वर ले लेता है. जिसके की वेबसाइट हमेशा ऑनलाइन बानी रखती है.

क्लाउड होस्टिंग यह सुनिश्चित करता है की सर्वर ख़राब होने पर भी वेबसाइट ऑफलाइन नहीं होगी यानि वेबसाइट कभी बंद नहीं होगी। शेयर्ड होस्टिंग में वेबसाइट कभी भी ऑफलाइन हो सकती है.

क्लाउड होस्टिंग कैसे काम करती है?

क्लाउड होस्टिंग क्लाउड सर्वर का होस्ट होती है. जब भी कोई यूजर इंटरनेट वेब ब्राउज़र पर हमारी वेबसाइट का नाम टाइप करता है तो सर्वर यूजर को हमारी वेबसाइट के फाइल तक पहुंचाता है.इस कार्य के बिच यदि सर्वर का लोड अधिक पड़ता है और सर्वर बंद हो जाता है तो इसकी जगह दूसरा सर्वर ले लिया जाता है.

क्लाउड होस्टिंग के फायदे

लोड का बटवारा

क्लाउड सर्वर के पास बहुत से सर्वर होते है जिसकी वजह से सर्वर पर अधिक लोड नहीं पड़ता है. इससे वेबसाइट स्पीड हमेशा अच्छी बानी रहती है.\

सिक्योरिटी अच्छी प्रदान करता है

होस्टिंग प्रोवाइडर का काम होता है आपकी वेबसाइट को अच्छी सुरक्षा प्रदान करना। यह आपके डाटा को सुरक्षित रखने में अत्यधिक मदत करते है क्यूंकि आपका डाटा अनेक सर्वर पर लोड हुआ आता है.

कस्टमइजशन की सुविधा

क्लॉउड होस्टिंग में कस्टमइजशन करने की सुवधा प्रदान की मिलती है. यहाँ पर आप अपनी जरूरतों के हिसाब से रिसोर्स को बड़ा और घटा सकते है.

सही दाम

यदि आप क्लाउड होस्टिंग को छोड़ कर किसी अन्य होस्टिंग को खरीदना चाहते तो आपको एक फिक्स्ड अमाउंट पे करना पड़ता है. लेकिन क्लाउड होस्टिंग में ऐसा बिलकुल भी नहीं है , आप जितने रिसोर्स का उपयोग करना चाहते है आपको उतने के ही पैसे देने पड़ते है.

अपटाइम प्रदान करता है

जैसे की मैंने आपको ऊपर ही बताया है कि Cloud Hosting वेबसाइट को कई सर्वर मिलकर होस्ट करते है. जिसकी फलस्वरूप इसे अधिक अपटाइम प्राप्त होता है.

क्लाउड होस्टिंग के नुकसान

पैसे

क्लॉउड होस्टिंग को खरीदने में शुरुआत में पैसे लगते है लेकिन तो भी ठीक है। लेकिन आगे चलकर जैसे जैसे आपकी वेबसाइट बड़ी होती है आपको नए रिसोर्स की जरूरत पड़ती है. ऐसे समय में यदि आप क्लाउड होस्टिंग खरीदने जायेंगे तो ज्यादा पैसे देने पड़ते है.

एक्सेसिबिलिटी

क्लाउड होस्टिंग इंटरनेट पर निर्भर है. यदि आप डाटा तक पहुंचना चाहते है तो आपको इंटरनेट की जरुरत पड़ती है.

क्लॉउड होस्टिंग और शेयर्ड होस्टिंग में कौन बेहतर है?

शेयर्ड होस्टिंग एक फिजिकल सर्वर पर आपकी वेबसाइट को होस्ट करता है वही क्लॉउड होस्टिंग क्लाउड सर्वर पर आपकी वेबसाइट को होस्ट करता है.

शेयर्ड होस्टिंग में सर्वर पर लोड पड़ने से वेबसाइट बंद हो जाएँगी लेकिन क्लाउड होस्टिंग में सर्वर बदल जायेगा और वेबसाइट चलती रहेगी।

Cloud Hosting शेयर्ड होस्टिंग की तुलना में अधिक सुरक्षा प्रदान करता है.क्यूंकि क्लाउड होस्टिंग आपके डाटा को सर्वर पर स्टोर करता है. यदि कभी सर्वर बंद भी हो जाता है आप अपने डाटा को दूसरे सर्वर से एक्सेस कर सकते है.

Cloud Hosting आपको कस्टमइजशन की सुविधा प्रदान करता है वही शेयर्ड होस्टिंग में आप केवल प्लान को अपग्रेड कर सकते है.

Best Cloud Hosting Providers in India

  • Google Cloud Platform
  • Kinsta
  • ScalaHosting
  • Hostinger
  • SiteGround
  • AccuWebHosting
  • DigitalOcean
  • AWS
  • A2 Hosting
  • HostGator
  • Azure
  • BigRock

FAQ

क्या मैं डोमेन के बिना होस्टिंग का Use कर सकता हूँ?

आप अपनी वेबसाइट को सर्वर पर होस्ट कर सकते है. डोमेन नेम नहीं है तो भी चलेगा।

Domain के लिए Hosting क्यों जरुरी है ?

यदि आप वेबसाइट को लोगो तक पहुँचाना चाहते है तो आपके पास होस्टिंग जरुरी होना चाहिए.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top