Share Market News in Hindi : भारतीय बाजार में 6 बेस्ट बॉन्ड ब्रोकर्स

Best Bond Brokers in India: भारत में निवेशक हमेशा अधिक कमाई की तलाश में रहते हैं और निवेश के दौरान जोखिम से बचते हैं। प्रारंभिक निवेशक साधारणतः अपनी करियर की शुरुआत या अपनी शुरुआती और अंतिम 20 वर्षीयों में अधिक जोखिम लेते हैं, और जैसे-जैसे वे बढ़ते हैं, वे अंशतः आयातन प्रमुख सुरक्षित निवेशों की ओर जाते हैं जैसे कि बॉन्ड और डिबेंचर जो किसी भी निवेश के आधार पर कम या कोई जोखिम नहीं उठाते हैं। कुछ ब्रोकर्स बॉन्ड में निवेश करने के लिए एक मंच प्रदान करते हैं। इस लेख में, हमें भारत में कुछ श्रेष्ठ ब्रोकर्स के बारे में जानने के लिए बताएं।

भारत में बॉन्ड ब्रोकर्स के बारे में जानने का स्वागत है! निवेशकों को समय के साथ अधिकतम लाभ प्राप्त करने की इच्छा होती है, और निवेश के दौरान वे जोखिमों से बचना चाहते हैं। निवेशकों के लिए बॉन्ड ब्रोकर्स की सूची उनके निवेश योजनाओं के साथ मदद कर सकती है।

Bond क्या है? What is Bonds in Hindi

बॉन्ड debt security है जो निवेशक से सरकार या कॉर्पोरेशन को एक लोन का प्रतिनिधित्व करती है। बॉन्ड खरीदना मतलब जारीकर्ता को पैसे उधार देना, नियमित ब्याज की भुगतान करना, और सर्टिफिकेट को मैच्योरिटी पर वापस पाना है। ये पूंजी संरक्षण, नियमित और स्थिर आय, और पोर्टफोलियो विविधता सुनिश्चित करते हैं।

सोचो इसे एक लाभप्रद दोस्त की तरह – तुम दोस्त बन जाते हो, जो तुम्हें पैसे उधार देता है, तुम्हें नियमित ब्याज के रूप में आमदनी देता है, और अंत में अपने पूंजी को वापस करता है।

Bond Fund क्या है? बांड फंड कैसे काम करते हैं?

5 Best Bond Brokers in India

1. GoldenPie

अभिजित रॉय और समीर बरन प्रतिहार ने 2017 में कंपनी की स्थापना की, जो बेंगलुरु में पंजीकृत हुई थी। ज़ेरोधा ने इस स्टार्टअप को समर्थन दिया। SEBI लाइसेंस्ड डेब्ट ब्रोकर ने सूचीबद्ध corporate bonds, non-periodic debenture IPOs, corporate fixed deposits, public gold bonds, और government securities में निवेश के लिए एक मंच प्रदान किया।

वे किसी भी लेन-देन के लिए ग्राहकों से कोई शुल्क नहीं लेते हैं। उनके कुछ strategic partner शामिल हैं जैसे कि Axis Securities, IIFL Securities, 5Paisa और मनी बाय टाटा कैपिटल। उनके प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से 2,500 करोड़ रुपये के मूल्य की बॉन्ड लेन-देन होते हैं।

2. Wint Wealth

2020 में, Wint Wealth की स्थापना अजिंक्य कुलकर्णी, अभिक पटेल, विनय दुबे, शशांक चिमलदारी, अंशुल गुप्ता, और श्रुति सिवाकुमार ने की। ज़ेरोधा और क्रेड ने इस स्टार्टअप को सपोर्ट किया। वे फिक्स्ड इनकम निवेश के लिए सेवाएं प्रदान करते हैं, जैसे कि fixed deposits, government securities, corporate bonds, और sovereign gold bonds।

कंपनी का दावा है कि उनके पास 53,000 से अधिक निवेशक हैं और उनकी कीमत 1,300 करोड़ रुपये से अधिक है। हाल ही में उन्होंने सेक्यूरिटाइज्ड डेब्ट इंस्ट्रूमेंट का शुभारंभ किया है जो कई लिस्टेड बॉन्ड में निवेश करने का लक्ष्य रखते हैं, जो 1 लाख रुपये से शुरू होता है।

Fixed Deposit में निवेश करने से पहले यह 7 बातें जान लें

3. TheFixedIncome.com

तीर्थ शाह, जिन्होंने कंपनी की संस्थापना की, ने इसे 2019 में शुरू किया। यह Tipsons ग्रुप का हिस्सा है, जो 30 साल से कार्यरत है। वे fixed income investment के लिए सेवाएं प्रदान करते हैं, जिसमें फिक्स्ड डिपॉजिट, गवर्नमेंट सिक्योरिटीज , कॉर्पोरेट बॉन्ड्स, बॉन्ड आईपीओ, और सर्वरेन गोल्ड बॉन्ड्स शामिल हैं। उन्होंने अब तक 1,700 करोड़ रुपये से अधिक के निवेश को सुविधाजनक बनाया है और संस्थापना के बाद से 1,00,000+ उपयोगकर्ताओं को सेवा प्रदान की है।

4. 5paisa

2015 में प्रारंभिक, इस कंपनी का नेतृत्व निर्मल जैन ने किया और इसका मुख्यालय ठाणे, महाराष्ट्र में स्थित था। यह IIFL Holdings की एक सहायक कंपनी है। कंपनी एक विस्तृत सेवा सूची प्रदान करती है, जिसमें स्टॉक ब्रोकिंग और बॉन्ड खरीदने के प्लेटफ़ॉर्म शामिल हैं। उनके पास 2 मिलियन से अधिक उपयोगकर्ताओं का ग्राहक आधार है।

5. HDFC Securities

HDFC सिक्योरिटीज़ HDFC बैंक की एक सहायक कंपनी है। उनके पास 11 लाख से अधिक ग्राहक हैं। वे technology, gold, debt, और real assets जैसे कई संपत्ति वर्गों में सेवाएं प्रदान करते हैं। इसमें stocks, derivatives, mutual funds, fixed deposits, NCDs, insurance, bonds, और currency derivatives शामिल हैं।

6. ICICI Direct

ICICI Direct ICICI Securities का हिस्सा है, जो ICICI Bank की एक सहायक कंपनी है। इसके ऑनलाइन ट्रेडिंग और निवेश सेवाओं का लाभ ले सकते हैं अधिकतम 50 लाख उपभोक्ता। BSE, NSE, और MCX पर न्यूनतम वित्तीय निवेश सेवाएं, फाइनेंसियल प्रोडक्ट, होम लोन , securities के खिलाफ लोन , फिक्स्ड डिपॉजिट्स, बॉन्ड्स, एनसीडी, म्यूचुअल फंड्स, और प्रारंभिक सार्वजनिक प्रस्ताव (आईपीओ) भी प्रदान किए जाते हैं।

निष्कर्ष

आलेख के अंत में, बॉन्ड या डिबेंचर में निवेश करने से निवेशकों को स्थिर लाभ प्रदान होगा। हालांकि, निवेश से जुड़े जोखिमों को समझना किसी भी निवेशक के लिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि निवेशित पूंजी को लाभ से पहले प्राथमिकता मिलती है। कुछ स्थितियों में वित्तीय निगरानियों और क्रेडिट एजेंसियां कार्रवाई में असफल रहीं, जिससे निवेशक मूल्यवान धन खो बैठे, और अर्थशास्त्र पर नजर रखना अत्यंत आवश्यक है। आप इन बॉन्ड ब्रोकर्स के बारे में क्या सोचते हैं? कृपया हमें नीचे टिप्पणी खंड में अपने विचार बताएं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top